आदर्शवाद क्या है ? आदर्शवाद  के मुख्य प्रतिपादक एवं समर्थक ?

आदर्शवाद क्या है?

आदर्शवाद क्या है- आदर्शवाद विश्व की सबसे पुरानी विचार धारा मानी जाती है।  आदर्शवाद शब्द की उत्पत्ति अंग्रेजी के आइडियल से हुई है। इस सिद्वान्त के उत्तप्ति और विकास को अक्सर प्लेटो के विचार सिद्वान्त  ( Theory of Ideology )  से जोड़ कर देखा जाता है। आदर्शवाद के अनुसार अध्यात्मिक जगत ही सब कुछ है यानि इस विचार धारा का आधार आध्यात्मिकता है और यही एक मार्ग है जिस पर चल कर मनुष्य सुख भोग सकता है। आदर्शवाद ने भौतिक जगत को नश्वर बताया है। आदर्शवाद का उद्देश्य मनुष्य को वास्तविकता से परिचित करना है। आदर्शवाद मनुष्य को जीवन जीने की काला का आध्यात्मिक रूप में पक्ष करता है।

 आदर्शवाद  के मुख्य प्रतिपादक एवं समर्थक

  1. सुकरात
  2. प्लोटो
  3. जेन्टाइल
  4. डेकार्ते
  5. ग्रीन
  6. स्पमोजा
  7. हीगल
  8. शेलिंग
  9. कांट
  10. हावर
  11. विवेकानन्द
  12. फिस्टे
  13.  अरविन्द

ये भी देखें- व्यवहारवाद क्या है? व्यवहारवाद के जनक कौन है?

प्लेटों  के अनुसार आदर्शवाद क्या है?

प्लेटो साध्य को साधान से ऊचा मानते है। उनके अनुसार शिक्षा का उदेश्य मनुष्य में सौंदर्य  की उपासना शक्ति का विकास करना है।  उनके अनुसार मनुष्य को शिक्षा दी जानी चाहिए ताकि उस पर गलत सगंत का प्रभाव नही पड़े। शिक्षा के प्रभाव से मनुष्य में सत्यं शिवं सुन्दरम की अनुभूति का निर्माण होता है। और वह इन अनुभूतियों का उपासक बनता है।

आदर्शवाद का शिक्षा में योगदान?

आदर्शवाद के अनुसार शिक्षा का मुख्य उदेश्य मनुष्य को मनुष्य बना है। ऐसा इस लिए क्योंकि अज्ञानता के अंधकार के कारण मनुष्य मनुष्य नही रह पता। इस लिए शिक्षा का कार्य मनुष्य में ज्ञान के प्रकाश से अंधकार को दूर करना तथा मनुष्य को स्वयं एवं ईश्वर के साथ एकता को पहचानने में स्पष्टता प्रदान करना है।

आदर्शवाद के प्रमुख सिद्वान्त

  1. सम्पूर्ण जगत के दो रूप है
  2. वस्तु की अपेक्षा विचार का महत्व
  3. जड़ प्रकृति की अपेक्षा मनुष्य का महत्व
  4. आध्यात्मिक सत्यों तथा मूल्यों में विश्वास
  5. व्यक्तित्व के विकास का महत्व
  6. भिन्नता में एकता के सिद्वान्त का पूर्ण समर्थन

 ये भी देखें- व्यवहारवाद क्या है? व्यवहारवाद के जनक कौन है?

ये भी देखें-व्यक्तित्व या स्वभाव कितने प्रकार के होते है?

ये भी देखें- बुद्धि क्या है ? व्यक्ति की रुचियों के अनुसार  बुद्धि के प्रकार ?

0