कृषि के कितने प्रकार होते है?

कृषि के कितने प्रकार होते है?

कृषि के कितने प्रकार होते है?- कृषि अंग्रेजी भाषा के   एग्रीकल्चर शब्द से बना है। एग्रीकल्चर लैटिन शब्द  एगर या एग्री जिसका अर्थ मृदा है और कल्चर जिसका अर्थ कृषि या जुताई होता है। अत कृषि का अर्थ मृदा एवं जुताई होता है। दुनिया में कृषि अलग-अलग स्तर एवं प्रकारों से की जाती है। भौगोलिक दशाओं, उत्पादन की मांग, श्रम और प्रौद्योगिकी के आधार पर कृषि को दो भागों में बाटा गया है।

  1. निर्वाह कृषि
  2. वाणिज्यक कृषि

ये भी देखें- पिसीकल्चर किसे कहते हैं?

निर्वाह कृषि किसे कहते है?

यह ऐसी कृषि होती है जिसे किसान अपने परिवार की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए करता है। इस प्रकार की कषि के भी दो प्रकार होते है। – गहन निर्वाह कृषि एवं आदिम निर्वाह कृषि

वाणिज्यक कृषि किसे कहते है?

यह कृषि व्यापारिक कृषि होती है इस कृषि में परिवहन नेटवर्क का विकास की जरूरत होती है। इस प्रकार की कृषि में उपज को व्यापार के रूप में  उगाया बेचा जाता है। इसमें विस्तृत कृषि  क्षेत्र और अधिक पूंजी का उपयोग किया जाता है। इस में उत्पादन की जाने वाली फसलें जैसे रबर, चाय, कपास आदि।

4 thoughts on “कृषि के कितने प्रकार होते है?

Comments closed