जूस जैकिंग क्या है? इससे कैसे बचे?

जूस जैकिंग क्या है? चार्जिंग पर मोबाइल लगाते ही खाते से उड़ गए 16 लाख

जूस जैकिंग क्या है? -चार्जिंग पर मोबाइल लगाते ही खाते से उड़ गए 16 लाख रुपए सुनने में अजीब जरूर है मगर ये एक दम हकीकत है जी हां ऐसी ही एक घटना हैदराबाद के एक व्यापारी के साथ हो चुकी है जिसमें उसके खाते से लगभग 16 लाख की ठगी का मामला सामने आया है। और इस ठगी को इतने शातिर तरीके से किया गया है की जिसके बाद आप फोन को चार्चिंग करना ही भूल जाएंगे।

ऐसे उड़ाए ठगों ने खाते से लाखों रुपए चन्द मिनटों मे

ये खबर जानना आपके लिए भी जरूरी है क्योंकि जैसा उस व्यापारी के साथ हुआ हो सकता है अगला शिकार आप हो जाए, तो चलिए बात करते है कि आखिर कौन सी छड़ी हाथ लगी ठगो के? तो ये है जूस जैकिंग जिससे आपके फोन की बैटरी तो फुल हो जाएगी मगर खाता खाली हो सकता है और आपके खाते का पैसा ठगों की जेब गरम कर सकता है।

SBI द्वारा जारी सतर्कता सन्देश

 

जूस जैकिंग क्या है?

आमतौर पर हमें एक फोन को चार्ज करने के लिए एक चार्जर चाहिए होते है लेकिन आजकल रेलवे स्टेशन, एअर पोर्ट अथवा किसी पब्लिक प्लेस में आपको USB केवल से चार्ज करने वाले चार्जिंग सोकेट देखने को मिल जाएंगे। जिसमें आपको सिर्फ USB लगानी है। यानी उस स्विच बोर्ड के अन्दर ही आपको एक चार्जर लगा मिल जाता है। बस यही से ठगी शुरू हो जाती है, जैसे ही आप अपना फोन उस USB केवल के जरिए उस पोर्ट मे लगाते है आपके फोन का सारा डाटा केवल के जरिये ठगो तक जाने लगता है। जिसमें आपके खाते की सारी जानकारी भी होती है। जैसे ही आप USB  केवल  लगाते है कुछ मालवेयर आपके फोन में प्रवेश कर जाते है जिनका कार्य फोन से डाटा ठगों तक पहुँचना होता है। इसलिए सबसे जरूरी है कि रेलवे स्टेशन, एअर पोर्ट अथवा किसी पब्लिक प्लेस में USB चार्जिक वाले  सोकेट से मोबाइल या लैपटाप कभी भी चार्ज ना करें हमेशा अपना चार्जर साथ रखे और नार्मल सोकेट से ही अपने फोन को चार्ज करें।

ये भी देखें- 

📌 क्या पक्षी एक समय में दो अलग-अलग चीजें देख सकते है?
📌 ये है दुनिया का सबसे बड़ा सांप देखकर उड़ जाएंगे होश!
📌 उल्लू अंधेरे में कैसे देख सकता है?

Scroll to Top