प्रकाश की वेधन क्षमता के आधर पर झील कितने प्रकार की होती है?

प्रकाश की वेधन क्षमता के आधर पर झील कितने प्रकार की होती है?

जलीय तंत्र में अधिकांश जैविक क्रियाएं प्रकाश की उपलब्धता के आधार पर नियंत्रित होती है। जलीय तंत्र में प्रकाश की उपस्थिति से उत्पादक तथा उपभोक्ता की उपस्थिति निर्धारित होती है। प्रकाश की वेधन क्षमता के आधार पर झील तीन प्रकार की होती है।

प्रकाश की वेधन क्षमता के आधर पर झील

1- वेलांचल क्षेत्र  ( Littoral Zone )

झील के किनारे पर छिछला जल होता है, जहां पर अधिकतर जड़युक्त वनस्पति  उगती है। इसमें प्रकाश छिछले पानी को भेदते हुए जाता है।

2- सरोजावी क्षेत्र ( Limnetic Zone )

वेलांचल के आगे का खुला जल क्षेत्र सरोजाबी क्षेत्र कहलाता है। इस क्षेत्र में पादपप्लवक प्रचुरता से फलते-फूलते है। जल की स्वच्छता के आधार पर इस क्षेत्र में प्रकाश 20 से 40 मीटर तक गहराई में जा सकता है।

3- गहरा क्षेत्र   ( Abyssal Zone )

यह अंधकार युक्त क्षेत्र होता है। ऐसे स्थान जहां प्रकाश पहुँच नहीं पाता उसे गहरा क्षेत्र कहते है। इन क्षेत्रों में घोंघा, स्लगों और सूक्ष्म जीव अधिक पाए जाते है।

ये भी देखें- 

✔ भारत में कितने भौगोलिक क्षेत्र है?
✔ वेल्ड प्रदेश किसे कहते है?
✔ अपक्षय किसे कहते है?
✔ लाइसोसोम की खोज किसने की थी?
✔ एंजियोस्पर्म किसे कहते है?

One thought on “प्रकाश की वेधन क्षमता के आधर पर झील कितने प्रकार की होती है?

Comments closed