बुद्धि क्या है ? व्यक्ति की रुचियों के अनुसार  बुद्धि के प्रकार ?

बुद्धि क्या है?

बुद्धि क्या है ?  मनुष्य एक बौद्विक प्राणी है और बौदिक प्राणी होने के कारण ही मनुष्य प्र्थ्वी पर पाये जाने वाले प्रणियों से भिन्न है। बुद्वि का वैज्ञानिक रुप सर्वप्रथम अमेरिकी मनोवैज्ञानिक स्पीयर मैन ने अपनी पुस्तक  the Nature of intelligence and principle of cognition में सन 1904 में दिया था।

वेवस्टर के अनुसार बुद्धि क्या है ?

वेवेस्टर के अनुसार बुद्धि ज्ञान को ग्रहण करती है तथा उसे व्यवहार में लाने का प्रयास करती है

वास्तव में बुद्धि क्या है यह आज भी मनोवैज्ञानिकों के लिए मत भेद का विषय रहा है। कुछ लोग बुद्धि को सीखने की क्षमता मानते है, तो कुछ इसे अमूर्त चिंतन करने की क्षमता।

थार्नडाइक के अनुसार बुद्धि कितने प्रकार की होती है

इन्होंने बुद्धि के तीन प्रकार होते है। इसी के अनुसार मनुष्य अपनी कार्य कुशलता का परिचय देता है। इन्होंने बुद्धि को तीन भागों में इस प्रकार बाटां है।

थार्नडाइक के अनुसार बुद्धि तीन प्रकार इस प्रकार है।

1- अमूर्त बुद्धि
2- समाजिक बुद्धि
3- मूर्त बुद्धि

व्यक्ति की रुचियों के अनुसार  बुद्धि के प्रकार ?

1- अमूर्त बुद्धि

इस प्रकार की बुद्धि  वाले लोग अक्सर चित्रकार, साहित्यकार, डाक्टर वकील या दार्शनिक होते है।

2- समाजिक बुद्धि

समाजिक बौद्वि वाले लोग अक्सर व्यवसायीक कूटनीतिज्ञ या सामाजिक कार्यकर्ता बनते है।
3- मूर्त बुद्धि

तीसरे प्रकार की बुद्वि जिसे मूर्त बिद्वि या गामक बुद्दि के नाम से भी जाना जाता है। इस प्रकार की बिदि वाले लोग इंजीनियर, कारीगर, मैकेनिक बनते है।

ये भी देखें- पर्ट (PERT) क्या है या पर्ट (PERT) किसे कहते है ?

 

1- बुद्धि  के तीन प्रकार थार्नडाइक ने दिये

2- बुद्धि के तीन प्रकार होते है – अमूर्त,  समाजिक, और मूर्त या गामक

3- बुद्धि का वैज्ञानिक रुप सर्व-प्रथम अमेरिकी मनोवैज्ञानिक स्पीयर मैन दिया

4- The Nature of intelligence and principle of cognition के लेखक स्पीयर मैन है।

5- वेवेस्टर के अनुसार बुद्धि ज्ञान को ग्रहण करती है तथा उसे व्यवहार में लाने का प्रयास करती है

 

 

 

0