मछलियां पानी में सांस कैसे लेती है?

मछलियाँ सांस कैसे लेती है?

मछलियाँ सांस कैसे लेती है?- आपने बचपन में कविता जरूर सुनी और पड़ी होगी के मछली जल की रानी है और जीवन उस का पानी है बाहर निकलो तो मर जाएगी जबकि इनसान पानी में कुछ ही देर जीवित रह सकता है लेकिन मछली अपना पूरा जीवन पानी में गुजार देती है? क्या मछलियों को आक्सीजन की आवश्यकता नहीं होती? जी नहीं मछलियों को भी जीवन के लिए आक्सीजन  की जरूरत होती है।

ये भी देखें- हैलीकाप्टर की गति (स्पीड) कितनी होती है?

मछलियाँ सांस कैसे लेती है

मछलियाँ सांस कैसे लेती है? 

मछलियाँ  वातावरण से सीधे आक्सीजन ग्रहण नहीं कर सकते। मछलियां पानी में अपने गिल्स द्वारा सांस लेती है। मछलियां सांस लेने के लिए सबसे पहले अपने मुंह में पानी को भरती है और ये पानी गलफड़ों से होते हुए बाहर निकल जाता है। जब पानी मछली के गलफड़ों में जाता है तो गलफड़ों में उपस्थित सूक्ष्म कोशिकाओं द्वारा पानी से आक्सीजन सोख ली जाती है। इसके बाद ये आक्सीजन गलफड़ों में उपस्थित रुधिर के साथ मिल कर शरीर में पहुँच जाती है। इस प्रकार यह प्रक्रिया चलती रहती है और मछली  को आक्सीजन मिलती रहती है।

 

 

Scroll to Top