यम क्या है? यम के कितने नियम है?

यम क्या है? यम के कितने नियम है?

यम क्या है? यम योग साधना का पहला नियम होता है। यम का अर्थ होता है मन को धर्म में स्थिर रखते हुए तथा बाहरी व आन्तरिक इन्द्रियों को वश में रख कर जीवनयापन करना ही यम है। यम के पांच नियम होते है।

ये भी देखें- मानव शरीर में कितने तत्व पाये जाते है?

यम क्या है? यम के प्रकार?

1- अहिंसा

अहिंसा का अर्थ किसी प्रकार से मन, वचन, अथवा शारीरिक रूप से किसी को कष्ट ना देना

2- सत्य

सत्य अर्थात कभी झूठ ना बोलना

3- अस्तेय

इस का अर्थ है मन, कर्म, कर्म अथवा वचन से किसी दूसरे के धन की कामना ना करना।

4- ब्रह्मचर्य

काम वासना की इच्छा को वश में रखना

5- अपरिग्रह

यह यम का पाँचवाँ नियम है जो कहता है कि अपनी आवश्यकता से अधिक धन जुटाना जो बिना किसी परिश्रम के प्राप्त हो यम ऐसी सुविधाओं का त्याग करने को कहता है।

 

 

0