वारेन हेस्टिंग का भारतीय शिक्षा के प्रति दृष्टिकोण कैसा था?

वारेन हेस्टिंग का भारतीय शिक्षा के प्रति दृष्टिकोण कैसा था?

वारेन हेस्टिंग एक राजनितिज्ञ तथा फोर्ट विलियम प्रेसीडंसी का प्रथम गवर्नर था। इस का जन्म 6 दिसम्बर 1732 को हुआ था। वारेन हेस्टिंग का नजरिया भारतीय शिक्षा को लेकर काफी अनुकूल था। इन्हेने भारतीय शिक्षा को अग्रेजी शिक्षा के समान ही अति उच्च दर्जे का माना था। वारेन हेस्टिंग ने अपने एक पत्र में भारतीय शिक्षा का गुणगान भी किया था।

ये भी देखें- काकोरी लूट कब हुई थी? काकोरी लूट कब और कहां हुई थी?

वारेन हेस्टिंग के पत्र के अनुसार भारतीय शिक्षा और अंग्रेजी शिक्षा स्तर?

वारेन हेस्टिंग ने अपने पत्र मे लिखा – “आमतौर पर यूरोप के किसी भी देश के मुकाबले भारत के लोग पढ़ने लिखने और अंकगणित में अधिक प्रतिभाशाली है” वारेन हेस्टिंग का यह भी मानना था कि भारत के लोगों की औसत साक्षरता ब्रिटिश शासन काल की अपेक्षा कम नहीं था। समाज में शिक्षा का मान अति उच्च था।

 

 

Scroll to Top