झांसी की रानी को वीरगति कब प्राप्त हुई थी?

झाँसी की रानी को वीरगति कब प्राप्त हुई थी

भारत की शेरनी झांसी की रानी एक ऐसी महान महिला थी जिन्होंने औरत को कमजोर समझने की भूल करने वाले अंग्रेजों को धूल चटा दी थी। झांसी की रानी लक्ष्मी बाई और अंग्रेजों के मध्य 4 जून 1858 को झांसी में विद्रोह की शुरुआत हुई थी झाँसी की रानी ने नाना साहब के सेनापति तात्या टोपे के साथ मिलकर अंग्रेजों को भारी टक्कर दी।

झाँसी की रानी
Credit-Wikipedia

यह भी देखें- स्थायी बन्दोबस्त क्या था?

झाँसी की रानी और अंग्रेजों के बीच लड़ाई।

अनेक युद्धों में अंग्रेजों को पराजित करने के बाद अंग्रेज जनरल ह्यूरोज से लड़ते हुए 17 जून 1858 को झांसी की रानी लक्ष्मी बाई को वीरगति प्राप्त हुई रानी लक्ष्मी बाई की मृत्यु पर जनरल हूयरोज ने कहा ” भारतीय क्रान्तिकारियों में यह सोयी हुई और अकेली मर्द है।

0