पढ़ाई में मन लगाने के तरीके? 100% कारागार

पढ़ाई में मन लगाने के तरीके?

पढ़ाई में मन लगाने के तरीके?- दोस्तों कई बार ऐसा होता है कि एक विधार्थी  की मन तो होता है की वह पढ़े लेकिन पढ़ाई में मन नहीं लगता लाख प्रयासों और जतन करने के बाद भी हमारा मन पढ़ाई के प्रति  नहीं होता  दोस्तों पढ़ाई में मन ना लगना कोई रोग नहीं होता और ना ही इस की कोई दवा इसका निवारण केवल इस समस्या से ग्रसित व्यक्ति के पास ही होता है दोस्तों यह जरूरी नहीं की मन ना लगने की समस्या केवल पढ़ाई में ही हो। दोस्तों किसी कार्य में मन ना लगना एक अस्थाई समस्या होती है। इस समस्या का निवारण सम्भव है। किसी भी कार्य अथवा पढ़ाई में मन लगाने के तरीके अनेक है लेकिन यह आप पर निर्भर करता है कि आप के अनुसार कौन-सी समस्या है उसका कारण कौन सा है और उसका निवारण क्या हो सकता है। तो चलिए देखते है पढ़ाई में मन लगाने के तरीके?

पढ़ाई में मन ना लगने का कारण ?

पढ़ाई में मन लगाने के लिए सबसे जानना जरूरी है कि आखिर हमारा पढ़ाई में लग क्यों नहीं रहा दोस्तों इसके अनेक कारण हो सकते है इनमें कुछ कारण निम्न हो सकते है।

  1. किसी बात को लेकर आप परेशान है?
  2. जिस कार्य को करने वाले है वह आपको कठिन लगता है?
  3. आप किसी बात से परेशान है जिसका असर आपके किसी अन्य काम अथवा पढ़ाई पर भी पड़ रहा है?
  4. आपके मन में किसी तरह का कोई विचार चल रहा है?
  5. आप कोई कार्य पहली बार कर रहे है?
  6. आपको चींजे समझ नहीं आती इस लिए रुची नहीं?

पढ़ाई में मन लगाने के तरीके?

दोस्तों पढ़ाई में मन ना लगने के कारण जो ऊपर दिए गए है इनमें से कोई भी कारण यदि आपके साथ भी है तो आप निम्न उपाय कर सकते है ताकि आपका मन लाग सके।

पढ़ाई में मन लगाने के तरीके?

  1. दोस्तों अगर आप किसी बात को लेकर परेशान है तो ऐसी स्थिति में आप पढ़ाई ना करें ऐसी स्थिति में आप कोई ऐसा कार्य करें जो आपको अति प्रिय हो ताकि मन को शांत किया जा सक मन शांत होने पर ही आप पढ़ाई करें।
  2. यदि आपको कार्य कठिन लगता है तो आप उसके सरल पहलू से शुरू करें जो लोग उन चींजों के बारे जानते है जो आपको कठिन लग रही है उस बारे में ऐसे लोगों से बात करें।
  3. मन विचार शील होता है अगर आप विचारों से परेशान तो ऐसी स्थिति में आप संगीत सुने अथवा कोई गेम खेल सकते है। फिल्म देख सकते है लेकिन फिल्म अधिक समय जी होती है।
  4. देखिए इस बात की आप चिंता ना करे की आप कार्य को पहली बार कर रहे है। हर व्यक्ति चाहे वह कोई भी क्यों ना हो एक ना एक दिन उस कार्य को पहली बार ही करता है। पहला कदम लेना जरूरी होता है।
  5. ये कारण सबसे बड़ा है जब किसी को चींजे समझ नही आती तो वह उन चींजो को समझना ही नहीं चाहता। ऐसी स्थिति में आपको जितना भी समझ आए उतना करें उसे ऐसे लोगों समझे जिनके बारे में लोग आपसे ज्यादा जानते है।

दोस्तों किसी कार्य अथवा पढ़ाई में मन ना लगना एक साइकोलाजिकल समस्या हो सकती है और इस का निवारण केवल उस कार्य को 21 दिन तक करना चाहे आपकी रूची हो अथवा ना हो ऐसा करने से आपका दिमाग अभ्यस्त हो जाता है और आपके दिमाग को वह कार्य आसान और रूचिपूर्ण लगने लगता है साथ ही आप ये दिए गए पढ़ाई में मन लगाने के तरीके? भी अपना सकते है।

ये भी देखें- 

 सफलता का राज क्या है ? आप सफलता के लिए क्या करें ?
❓ सफलता के दस सूत्र जो आपके जीवन को आसान और आदर्श बना देंगे।
❓ पढ़ाई कैसे करे? पढ़ाई करने का सही तरीका क्या है?